Menu
होम हमारे बारे में नागरिक चार्टर

नागरिक चार्टर

हमारा दृष्टिकोण :

समाज के सभी वर्गों की सेवा के लिए बैंकिंग और बीमा क्षेत्र के अच्छे विनियमन और क्रमिक विकास को बढ़ावा देना।

हमारा उद्येश्य :

वित्तीिय सेवाएं विभाग भूतपूर्व बैंकिंग और बीमा विभागों का विलय करके 28 जून, 2007 को बनाया गया था। वृहत् रूप से विभाग के कार्य बैंकिंग, बीमा और पेंशन सुधार के संबंध में बांट दिये गये।

हम निम्न के माध्य्म से लक्ष्यक को पूरा करते हैं :-

  • सरकारी क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी), सरकारी क्षेत्र की बीमा कंपनियों और वित्तीय संस्थान का विकास (डीएफआई) अर्थात् नाबार्ड, सिडबी, आईआईएफसीएल, एक्जिम बैंक, आईडीएफसी, एनएचबी और आईडबल्यूआरएफ़सी, आईआईबीआई को पॉलिसी दिशानिर्देश, वैधानिक और अन्यै प्रशासनिक बदलाव के माध्यम से नीति सहायता देकर।
  • पीएसबी, सरकारी क्षेत्र की बीमा कंपनियों और डीएफआई की जांच करके।
  • गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों, निजी बैंकों और विदेशी बैंकों के संदर्भ में पॉलिसी तैयार करना।
  • विनियामक प्राधिकरणों अर्थात् आरबीआई, आईआरडीए, पीएफआरडीए, एनएचबी और नाबार्ड को सहायता देकर।

हमारा ग्राहक :

  • बैंक
  • सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियां
  • विकास वित्तीय संस्थाएं
  • गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियां
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक

हमारी सेवाएं :

  • सरकारी क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी), सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों तथा डीएफआई के बोर्ड में मुख्य कार्यपालक अधिकारियों तथा सरकार द्वारा नामित निदेशकों/गैर निदेशकों, पीएसबी तथा बीमा कंपनियों में प्रमुख सतर्कता अधिकारियों (सीवीओ); बीआईएफआर तथा एएआईएफआर का अध्याक्ष एवं सदस्यों; पीएसबी में कामगार कर्मचारी निदेशकों की नियुक्ति।
  • क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक अधिनियम, 1976 तथा बैंकों, डीएफआई और बीमा कंपनियों से संबंधित सभी अधिनियमों का प्रशासन।
  • सार्वजनिक क्षेत्र की बीमा कंपनियों के कर्मचारियों और आईआरडीए के अध्यक्ष एवं सदस्यों की सेवा शर्तों से संबंधित नियमों तथा विनियमों को तैयार करना।
  • आईआरडीए अधिनियम, 1999 के तहत नियमों का गठन और आईआरडीए के अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति।
  • अंतरिम पीएफडीआरए से संबंधित विधि‍क प्रस्तावों को तैयार करना।
  • उद्योग, बैंकों और वित्तीय संस्थानों के बीच समन्वय।

संक्षिप्तम पद्यांश:

आरबीआई - भारतीय रिजर्व बैंक

नाबार्ड - राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक

सिडबी - भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक

आईआईएफसीएल - इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी लिमिटेड

एक्ज़िम बैंक - भारतीय निर्यात - आयात बैंक

आईडीएफसी - औद्योगिक विकास वित्त निगम

एनएचबी - राष्ट्रीय आवास बैंक

आईडब्ल्यूआरएफसी - सिंचाई और जल संसाधन वित्त निगम

आईआरडीए - बीमा विनियामक और विकास प्राधिकरण

पीएफआरडीए - पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण

बीआईएफआर - औद्योगिक और वित्ति‍य पुनर्निर्माण ब्यूरो

एएआईएफआर - औद्योगिक और वित्तीय पुनर्निर्माण अपीलीय प्राधिकरण

पीएसबी - सरकारी क्षेत्र के बैंक

डीएफआई - वित्तीय संस्थान विकास

एलआईसी – भारतीय जीवन बीमा निगम

डीएआरपीजी - प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग

डीओपीटी - कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग

सीपीआईओ - केंद्रीय जन सूचना अधिकारी

शिकायत निपटान तंत्र:

  • सरकारी क्षेत्र के बैंकों और बीमा कंपनियों में शिकायत निपटान तंत्र को और सुदृढ़ बनाने के लिए, इस विभाग के द्वारा प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग द्वारा विकसित सीपीजीआरएएमएस पोर्टल (केंद्रीकृत सार्वजनिक शिकायत निपटान और निगरानी प्रणाली) का व्यापक उपयोग किया गया है।
  • यह प्रणाली नागरिकों को वेबसाइट पर सीधे ऑन लाइन पर अपनी शिकायतें दर्ज करने की सुविधा प्रदान करते हैं।
  • व्यक्तियों, डीएआरपीजी, डीओपीटी से प्राप्त शिकायतों को बैंकों, सार्वजनिक क्षेत्र की संबंधित बीमा कंपनियों, आईआरडीए, बैंकिंग लोकपाल कार्यालयों आदि को ऑनलाइन के माध्यकम से अंतरित किया जाता है और एजेंसियों द्वारा शिकायतों का उत्तइर भी ऑनलाइन के माध्य म से प्रस्तु त किया जा सकता है।
  • यह प्रणाली शिकायतकर्ता को ऑनलाइन में शिकायत की स्थिति की निगरानी करने तथा कृत कार्रवाई रिपोर्ट बनाने में सहायक होता है।
  • जीवन बीमा निगम में, शाखा कार्यालयों में ग्राहक संपर्क कार्यपालक तथा क्षेत्रीय कार्यालयों में ग्राहक संपर्क प्रबंधक, पॉलिसी धारकों, एजेंटों और अन्य अधिकारियों/एजेंसियों से प्राप्तइ शिकायतों का निपटान करते हैं।
  • शिकायतकर्ता अपनी शिकायतों के निपटान के लिए पूर्व अनुमति के बिना शिकायत निपटान अधिकारी से मिल सकता है।

सूचना का अधिकार अधिनियम, 2005:

  • वित्तीय सेवाएं विभाग में, आरटीआई अधिनियम के तहत प्राप्त आवेदनों का निपटान करने के लिए सीपीआईओ और अपीलीय प्राधिकारि‍यों को नामित किया गया है। आवेदकों को निर्धारित समय सीमा के तहत सूचना प्रस्तुनत की जाती है। वह आवेदक, जो उपलब्धस कराई गई सूचना से संतुष्ट नहीं है या जिन्हेंद समय पर सूचना प्राप्त नहीं हो रही है, निर्धारित समय के अंतर्गत अपीलीय प्राधिकारी के समक्ष अपील कर सकते हैं। सीपीआईओ और अपीलीय प्राधिकारि‍यों के नाम एवं अन्य अपेक्षित जानकारियां विभाग की वेबसाइट पर डाल दी जाती हैं और जब भी इसमें परिवर्तन किया जाता है, इसका अद्यतन किया जाता है।

हमारा पता:

वित्तीय सेवाएं विभाग,

तृतीय मंजिल, जीवनदीप बिल्डिंग,

संसद मार्ग,

नई दिल्ली - 110001

वेबसाइट: http://financialservices.gov.in

फैक्स नं. - 23742207, 23747018, 23360250 (बैंकिंग प्रभाग)

23344605 (बीमा प्रभाग)

Scroll To Top