: Department of Financial Services, Government of India लोक शिकायत निवारण तंत्र

लोक शिकायत निवारण तंत्र

समयबद्ध तरीके से लोक शिकायत निवारण तथा बैंकिंग व बीमा क्षेत्र में लोक सेवा उपलब्ध कराना (डिलीवरी) वित्तीकय सेवाएं विभाग की प्रमुख प्राथमिकताओं में से एक है।
2. सरकारी क्षेत्र के बैंकों (पीएसबी), वित्तीरय संस्थांओं (एफआई) तथा सरकारी क्षेत्र की बीमा कम्प.नियों (पीएसआईसीस) आदि सभी में उनके ग्राहक सेवा विभागों के माध्याम से लोक शि‍कायत।ग्राहक शिकायतों के निवारण हेतु नीतियां तथा तंत्र मौजूद हैं। लोक शिकायतों के तत्प.रता से निवारण हेतु, याचिकाकर्ताको अपनी शिकायतके समाधान हेतु पहले संबंधित संगठनों (3-स्तारीय शिकायत समाधान प्रणाली-शाखा प्रबंधक-आंचलिक प्रबंधक तथा महाप्रबंधक-ग्राहक सेवा) से संपर्क करने का परामर्श दिया जाता है।

3. यदि शिकायतकर्ता निवारण से पूर्णतया संतुष्टा नहीं हैं तो वह मध्यिस्थथग एवं दंडस्वकरूप राशि (एवार्ड) पारित कराने के माध्य्म से अपनी शिकायतों के निवारण हेतु बैंकिंग लोकपाल तथा बीमा लोकपाल से संपर्क कर सकता/सकती है। शिकायत निवारण हेतु संगत विवरण/सूचना पीएसबी/एफआई, पीएसआईसी, आरबीआई, इरडा तथा पीएफआरडीए की वेबसाइट लिंक पर उपलब्धो हैं, नीचे दिए गए हैं।

4. विभाग में ऑनलाइन अथवा डाक/दस्तीए द्वारा प्राप्तव शिकायतों, को समाधान/निपटान हेतु संबंधित संगठनों को सीपीजीआरएएमएस (केंद्रीकृत लोक शिकायत निवारण तथा निगरानी प्रणाली) के माध्यसम से अग्रेषित किया जाता है, निगरानी तथा आवधिक समीक्षा की जाती है। डीएआरपीजी के दिशानिर्देशों/अनुदेशों के अनुसार शिकायत के निवारण हेतु अधिकतम समय सीमा 60 दिन है। पोर्टल www.pgportal.gov.in पर उपलब्धर है।

5. शिकायत निवारण हेतु संबंधित व्युक्ति का संपर्क विवरण एवं सूचना अगले पृष्ठै पर दिए गए वेबसाइट लिंकों पर उपलब्धस हैं:-